Saturday, August 20, 2011

azadi ki nayi jang

अभी नहीं..तो, कभी  नहीं..
अभी नहीं..तो, कभी  नहीं..
उठो देश के नौजवानों..
अपनी शक्ति को पहचानो..
बदल  रहा  है  देश ये  आपना …
तुम  भी  इसमें  साथ  निभाओ …
हमने  ना   देखी  जंग   आज़ादी  की …
हमने ना देखा  गाँधी  को…
लोक  पाल   की जुंग  है देखी …
हमने तो  देखा अन्ना  की अंधी  को…
अभी नहीं..तो, कभी  नहीं..
जात  पात  के टूटे बंधन …
सबको  दिखता  बस  एक  वतन …
भरष्ठाचार   से  पानी  मुक्ति …
लोक पाल दिकती एक युक्ति …
जुड़  गये  अब  लोग  है सारे ..
हिल  गयी  है अब ये सरकारे …
आओ  हम  सब  भी मिल  कर  एक नया  आगाज़  करे ….
जनहित  के  इस  आन्दोलन  में  अपना सहयौग आज  करे …
अभी नहीं..तो, कभी  नहीं..
AC

No comments:

Post a Comment