Featured post

भारतीय दर्शन और आधुनिक विज्ञान

कोशिश .....An Effort by Ankush Chauhan भारतीय दर्शन विश्व के प्राचीनतम दर्शनो में से एक है इसमें अनेक वैज्ञानिक सिंद्धान्तो को प्रतिपादि...

How to select a lathe machine hindi हिंदी

कोशिश .....An Effort by Ankush Chauhan

लेथ को हिंदी में खराद मशीन कहा जाता है। ,यह सबसे पुरानी  मचिनो में से एक है 1797 में एक अंग्रेज  हेनरी मॉड्स्ले (Henry maudslay) ने thred स्क्रू कटाई लेथ  का डिज़ाइन किया। यह सबसे लोकप्रिय टर्निंग टूल में से एक है ,खराद  का साइज Swing तथा दो केन्द्रो Head stock ( शीर्ष केंद्र) और tail stock (पूछ केंद्र ) के बिच की दुरी से किया जाता है। 


लेथ का मुख्य कार्य वर्क पीेछे से मेटेरियल रिमूव करना है इसमें कार्य खण्ड (Job ) को घुमाकर नुकीले कटाई टूल को इसकी लम्बाई के तिरछा (across ) चला कर धातु को छिला जाता है 
1. Straight turning स्ट्रेट टर्निंग (सीधे खरदना )- लम्बाई से छीलना 
2.taper turning टेपर टर्निंग ( तिरछा खरदना ) - शंकु आकर छीलना 

3.thread cutting थ्रेडिंग ( चूड़ी काटना)
4. Grooving ग्रूविंग (ग्रुव  काटना )
5. Facing- फेसिंग  ( फेस समतल करना)
6.knurling ( नरलिंग )
7.forming फॉर्मिंग - रूप देना 
8.drilling ड्रिलिंग - छेद करना 
9. boring बोरिंग - छेद बड़ा करना 
10.parting off पार्टिंग ऑफ  - काट कर अलग करना 
11.tapping  टैपिंग भीतरी चूड़ी काटना 
और बहुत से अन्य करए है जो लेथ दवरा किये जाते है 
लेथ के साइज का निर्धारण करने के लिए निम्न बिन्दुओ को ध्यान में रखा जाता है 
1.स्विंग डायामीटर - ये वो अधिकतम डायामीटर जिस साइज का जॉब मशीन पर बिना बेड  को छुए घूम सकता है  
2.स्विंग डायामीटर ओवर कैरिज - ये वो अधिकतम  डायामीटर जिस साइज का जॉब लेथ के सैंडल के ऊपर से भी घूम सकता है यह .स्विंग डायामीटर से काम होता है 
3. सेण्टर की लेथ के बेड से ऊंचाई 
4.सेंटर के बिच की दुरी - इस लंबाई का अधिकतम जॉब सेंटर के बीच लगाया जा सकता है 
5. बोर डायमीटर ये वो अधिकतम साइज है जिसका रोड हेड स्टॉक के बोर के अंदर से गुजर सकता है 
ये कुछ  महत्वपूर्ण उपाय हैं जिन्हें हमें खराद मशीन ऑर्डर करने से पहले जानना आवश्यक है। और कुछ अन्य पैरामीटर हैं स्पिंडल स्पीड की रेंज, फीड्स की संख्या, मीट्रिक और BSW  थ्रेड की संख्या और रेंज जिन्हें काटा जा सकता है, लीड स्क्रू की पिच और पावर इनपुट आदि।
आज लेथ मशीन के विभिन्न रूप उपलब्ध हैं उनमें से कुछ टेरेट लेथ, सीएनसी लेथ, लाइट ड्यूटी, मीडियम ड्यूटी और हैवी ड्यूटी लेथ मशीन हैं। सर्वोत्तम परिणाम प्राप्त करने के लिए अपनी आवश्यकताओं के अनुसार खराद मशीन का चयन करना महत्वपूर्ण है। उदाहरण के लिए, यदि आपकी आवश्यकताएं अधिक हैं और आपको अधिक  प्रयोग  के लिए एक तेज और कुशल मशीन की आवश्यकता है, तो एक मानक लाइट ड्यूटी लेथ के लिए जाने के बजाय एक मजबूत  हैवी ड्यूटी लेथ   खराद मशीन एक अच्छा विकल्प होगा जो विशेष रूप से डिजाइन की गई मशीन की तुलना में तुलनात्मक रूप से सस्ता है। थोक या भारी संचालन के लिए। धातु को आकार देने के लिए एक भारी शुल्क खराद मशीन आमतौर पर उच्च गति, स्वचालित कार्यात्मकताओं और तकनीकी रूप से उन्नत सुविधाओं से सुसज्जित होती है और इसलिए हलकी और मध्यम प्रयोग के लिए डिज़ाइन की गई मशीन की तुलना में हेवी ड्यूटी  तेज और कुशल कार्य के साथ बेहतर प्रदर्शन दे सकती है। हम इन मशीनों पर भी चूड़ी  बना सकते हैं वीडियो में  पारंपरिक खराद मशीनटर्निंग और चूड़ी  काटने का कामकाम कर रही है।

https://www.youtube.com/watch?v=gZ8Srt2pe4U




ट्रोब  मशीन एक कैम संचालित मशीन है जो खराद मशीन के कई ऑपरेशन कर सकती है। यह एक स्वचालित प्रकार की मशीन है जिसमें सेटिंग करने के बाद , मशीन स्वचालित रूप से कार्य कर सकती है  कार्य के अनुसार अलग-अलग कैम सेट करके मशीन से अनेक ऑपरेशन एक साथ किये जा सकते है  है। सीएनसी की  तुलना में इसकी  लागत बहुत कम है और सामान्य खराद की तुलना में अच्छी उत्पादन दर दे सकती है।

ट्रोब मशीन के कार्य  के लिए वीडियो देखे 

Traub machine operation video






Traub machine operation with side drill


सीएनसी खराद एक कंप्यूटर नियंत्रित मशीन है जो छोटे और बड़े दोनों जॉब  के लिए अच्छी है। यदि आपको  पूरी तरह से स्वचालित मशीन की आवश्यकता है तो सीएनसी खराद मशीन के लिए जाएं। एक सीएनसी खराद मशीन कंप्यूटर प्रोग्राम से चलती है  और इसलिए उन लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प है जो कार्यस्थल पर श्रम लागत को कम करना चाहते हैं। चूंकि ये कंप्यूटर नियंत्रित मशीनरी हैं, इसलिए इसे प्रोग्राम करने के लिए विशेषज्ञ तकनीशियन की आवश्यकता होती है।

No comments:

Post a Comment